CBSE 12th Exams cancelled, let’s know the basics on which the result will be released

शिक्षा

नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) को देखते हुए केंद्र सरकार ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की 12वीं क्लास की बोर्ड परीक्षा रद्द कर दी है, लेकिन छात्रों के मार्क्स का मूल्यांकन किस आधार पर होगा. इसका ऐलान होना बाकी है. CBSE सूत्रों के मुताबिक इसी हफ्ते इसके फॉर्मूला का ऐलान हो जाएगा. हालांकि इसको लेकर तरह-तरह के कयास जरूर लगाए जा रहे हैं.

क्या होगा CBSE 12th Board Result का फॉर्मूला

1.  इनमें से एक फॉर्मूला ये है कि छात्रों के रिजल्ट का मूल्यांकन उनके पिछले 3 साल के परफॉर्मेंस के आधार पर होगा. यानी इसके लिए 9वीं, 10वीं और 11वीं के रिजल्ट को आधार बनाया जा सकता है.

2. 10वीं बोर्ड के रिजल्ट और 12वीं के इंटरनल असेसमेंट के आधार पर 12 के छात्रों का रिजल्ट तैयार हो सकता है.

रिजल्ट को लेकर CBSE का मंथन जारी

हालांकि, अभी तक सीबीएसई (CBSE) की तरफ से कोई आधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है और रिजल्ट (CBSE Result) को तैयार करने के फॉर्मूले पर मंथन जारी है. फिलहाल किसी तरह के कयास को सही ठहराने से सीबीएसई ने साफ इंकार कर दिया है और जल्द ही बोर्ड की ओर से इसको लेकर घोषणा की जाएगी.

इंटरनल एग्जाम के आधार पर भी जारी हो सकता है रिजल्ट

दरअसल, ये कयास इसलिए लगाए जा रहे हैं, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की अध्यक्षता में मंगलवार को आयोजित बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने कहा था कि कक्षा 12वीं का परिणाम तैयार करने के लिए इंटरनल परीक्षा को भी आधार पर बनाया जा सकता है. इसीलिए कहा जा रहा है कि 11वीं और 12वीं के इंटरनल परीक्षा के आधार पर 12वीं का अंतिम रिजल्ट तैयार किया जा सकता है.

रिजल्ट से संतुष्ट छात्र के पास होगा एग्जाम का ऑप्शन

परीक्षा रद्द होने की खबर से कुछ छात्र दुखी नजर आए, ऐसे छात्रों की संतुष्टि के लिए सीबीएसई (CBSE) ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर एक अधिसूचना जारी की है. इसके मुताबिक कक्षा दसवीं बोर्ड की तरह 12वीं के लिए भी ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया तैयार किया जाएगा. अगर कोई छात्र आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर तैयार किए गए रिजल्ट से संतुष्ट नहीं होगा, तो उसे परीक्षा देने का एक अवसर भी दिया जाएगा. हालांकि कोरोना को लेकर स्थिति अनुकूल होने पर ही छात्रों को परीक्षा देने का विकल्प दिया जाएगा.

इस बार काम नहीं आएगा पिछले साल का फॉर्मूला

पिछले साल भी एग्जाम रद्द होने के बाद रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को एग्जाम का विकल्प दिया गया था. हालांकि पिछले साल पूरी परीक्षा रद्द नहीं हुई थी और कुछ पेपर्स के एग्जाम नहीं हो पाए थे.  कुछ छात्रों के 1, कुछ के 2 तो कुछ के 3 पेपर रह गए थे. इसके बाद सीबीएसई (CBSE) ने छात्रों द्वारा दिए गए पेपर के मार्क्स को आधार बनाकर बाकी पेपर के लिए एवरेज मार्किंग की थी. इसीलिए इस बार पिछले साल के फार्मूले को लागू नहीं किया जा सकता है.

10वीं के रिजल्ट के लिए बोर्ड ने अपनाया है ये फॉर्मूला

वैसे इससे ठीक पहले 10वीं की परीक्षा को रद्द किया गया था, जिसके बाद उनके परीक्षा परिणाम (CBSE 10th Result) को तैयार करने के लिए 5 सदस्यीय शिक्षकों की टीम का गठन हर स्कूल स्तर पर किया गया है. साथ ही उनके परिणाम का आधार इंटरनल असेसमेंट को बनाया गया है, लेकिन यही फॉर्मूला 12वीं के लिए भी होगा, ये कहना मुश्किल है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *